Ek Geet... Ek Ehsaas...

See more by Bibekananda Nayak

Available at Select Retailers

About the author

Bibekananda Nayak

Hi! This is Bibekananda Nayak, the writer। मेरा घर ओडिशा के कटक जिले में है। और मेरा Higher Education, +2 science है। ऐसा नहीं है कि मैंने इसके आगे पढ़ाई नहीं की थी। +2 खत्म होने के बाद मैंने Mechanical Engineering की पढ़ाई की पर अब्सोस college के last year का Exam नहीं दे सका। घर में दूसरों के फैसले को अपना मान कर मेरे भबिष्य के लिए जो भी गलत फैसला मैंने लिया उसका सजा मुझे बहुत बुरी तरह से मिला। जिंदगी में चाहे कुछ भी हो जाए हम दूसरों से, अपने आप से और अपनी वजूद से भागने की कितनी भी कोशिश कर लें लेकिन तक़दीर एक ही पल में इस दिल को एक ऐसा एहसास दे देता है की हम उस फैसले को मानने के लिए मजबूर हो जाते हैं। मैं भी हो गया। मुझे झांकना पड़ा अपने अंदर। अपने आप में खुद को ढूंढ़ना पड़ा। इस धरती में जन्म लेने वाला हर एक सख्स किसी एक ख़ास मकसद के लिए ही आता है। हाँ यह सच्च है की इस दुनिया में जीने के लिए, हर रोज़ हम नयी-नयी चुनौतियों का सामना करते हैं पर उस चुनौतियों के रास्ते में चलते-चलते हम किस मंजिल पर पहुंचेंगे, इस बात को तक़दीर पहले से ही तय कर चुका होता है। बस इंतज़ार करना पड़ता है एक सही वक़्त की और फिर सब कुछ बदल जाता है। आज अपने आपको लेखक कहने में बहुत गर्व महसूस होता है मुझे क्यूंकि यह जिंदगी जिसे मैंने तक़दीर से पायी है आगे जा कर नजाने कितनी जिंदगियों में खुशहाली का कारण बनेगा, उनकी दुआएं पायेगा, इज़्ज़त पायेगा जिसकी कीमत दुनिया की किसी भी करेंसी सिस्टम में तोला नहीं जा सकता।